Aarti Shri Gayatri Ji Ki in Hindi

Posted by Admin on May 25, 2012  • 

Download MP3 Listen More Bajrangbali Bhajan

 

Lyrics Aarti Shri Gayatri Ji Ki in Hindi

श्री गायत्री जी की आरती

आरती श्री गायत्री जी की |

सो भक्ति ही पूर्ती करै जहं घी की |

आरती श्री गायत्री जी की |

मानस की शुचि थाल के ऊपर,

देवी की जोति जगै, जहं नीकी |

आरती श्री गायत्री जी की |

शुद्ध मनोरथ के जहां घण्टा,

बाजैं करैं पूरी आसहु ही की |

आरती श्री गायत्री जी की |

जाके समक्ष हमें तिहूँ लोक कै,

गद्दी मिलै तबहूं लगै फीकी |

आरती श्री गायत्री जी की |

संकट आवैं न पास कबौ तिन्हें,

सम्पदा औ सुख की बनै लीकी |

आरती श्री गायत्री जी की |

आरती प्रेम सो नेम सों करि,

ध्यावहिं मूरति ब्रह्म लली की |

आरती श्री गायत्री जी की |